गुजरात डिजिटल सेवा सेतु योजना 2022: फीज, उद्देश्य और अप्‍लाई कैसे करें?

Gujarat Digital Seva Setu Yojana 2022- गुजरात डिजिटल सेवा सेतु योजना 2022

Gujarat Digital Seva Setu Program – गुजरात डिजिटल सेवा सेतु प्रोग्राम

हम सभी जानते हैं कि हमारे देश में नागरिकों को सहायता प्रदान करने के लिए केंद्र सरकार और राज्य सरकार ने कई अन्य योजनाएं शुरू की हैं, इसी तरह गुजरात के मुख्यमंत्री ने गुजरात राज्य के निवासियों को लाभ देने के लिए एक बहुत ही लाभकारी योजना शुरू की, जिसका नाम है गुजरात डिजिटल सेवा सेतु योजना। इस योजना के तहत, राज्य के ग्रामीण क्षेत्रों में सरकारी सेवाएं ऑनलाइन उपलब्ध कराई जाएंगी, और सरकार राज्य की 3500 ग्राम पंचायतों में ऑप्टिकल फाइबर नेटवर्क स्थापित करेगी।

दोस्तों इस लेख में हम आपको Digital Seva Setu Program के बारे में पूरी जानकारी प्रदान करेंगे जैसे कि इस योजना में आवेदन कैसे करें, पात्रता, डयॉक्‍यूमेंट आदि। तो आप इस लेख को अंत तक पढ़ें।

विषयसूची

Gujarat Digital Seva Setu Yojana 2022- गुजरात डिजिटल सेवा सेतु योजना 2022

Gujarat Digital Seva Setu Yojana - गुजरात डिजिटल सेवा सेतु योजना

Gujarat Digital Seva Setu Program – गुजरात डिजिटल सेवा सेतु प्रोग्राम

गुजरात सरकार द्वारा संचालित गुजरात डिजिटल सेवा सेतु योजना के तहत सेवाओं का लाभ केवल राज्य के ग्रामीण क्षेत्रों में ही प्रदान किया जा सकता है। राज्य के लोगों को अपने प्रमाण पत्र और सरकारी डॉक्‍यूमेंट बनाने के लिए शहर जाने की आवश्यकता नहीं होगी, लोग अब अपने गांव क्षेत्र में केंद्र पर जाकर या अपने कंप्यूटर से राशन कार्ड, शपथ पत्र, आय प्रमाण पत्र जैसे डॉक्‍यूमेंट बना सकते हैं।

इस डिजिटल सेवा सेतु प्रोग्राम 2022 के तहत राज्य सरकार के माध्यम से प्रदेश की 3500 ग्राम पंचायतों को आप्टिकल फाइबर नेटवर्क उपलब्ध कराएगा। देश के किसी भी राज्य में यह पहली योजना है। जिस पर सरकार जनकल्याणकारी सेवाओं को लोगों तक पहुंचाएगी।

भारत के डिजिटल इंडिया अभियान में यह डिजिटल सेवा सेतु कार्यक्रम राज्य को डिजिटल बनाने में अहम भूमिका निभाएगा। इस सेवा सेतु कार्यक्रम के माध्यम से इलेक्ट्रॉनिक सेवाओं का लाभ लोगों तक पहुंचेगा।

गुजरात डिजिटल सेवा सेतु प्रोग्राम का शुभारंभ (Launch of Gujarat Digital Seva Setu Program)

गुजरात के मुख्यमंत्री श्री विजय रूपानी ने राज्य के सभी निवासियों को डिजिटल सेवाएं प्रदान करने के लिए 8 अक्टूबर 2020 को गुजरात डिजिटल सेवा सेतु योजना की शुरुआत की। औद्योगीकरण और डिजिटलीकरण के मामले में गुजरात ने एक लंबा सफर तय किया है। डिजिटलीकरण और पारदर्शिता को बढ़ावा देने के लिए राज्य सरकार द्वारा कई योजनाएं शुरू की गई हैं।

गुजरात के मुख्यमंत्री श्री विजय रूपाणी ने कहा है कि दिसंबर 2020 तक राज्य की 8 हजार से अधिक ग्राम पंचायतों को डिजिटल सेवा सेतु प्रोग्राम से जोड़ा जाएगा। इस योजना का मुख्य उद्देश्य राज्य में डिजिटल परिवर्तन लाना है।

इस पोर्टल के माध्यम से ग्राम क्षेत्र के लोगों को 22 सेवाओं का लाभ मिलेगा। यह डिजिटल सेवा सेतु प्रोग्राम का पहला चरण है। यह पोर्टल केवल राज्य के ग्रामीण लोगों को लाभ प्रदान करने के लिए शुरू किया गया है। गांव के लोगों को अब अपने डयॉक्‍यूमेंट बनाने के लिए जिले का चक्कर नहीं लगाने पड़ेंगे। अब वे अपने आधिकारिक डयॉक्‍यूमेंट अपने गांव में ही बनवा सकते हैं। इस पोर्टल पर ग्रामीण क्षेत्रों में रहने वाले लोगों को राशन कार्ड, आय प्रमाण पत्र जैसी 22 सेवाओं का लाभ मिलेगा। गुजरात डिजिटल सेवा सेतु योजना राज्य के निवासियों को एक ऐतिहासिक प्रशासनिक क्रांति प्रदान करेगी।

गुजरात डिजिटल सेवा सेतु प्रोग्राम का विवरण digitalsevasetu.gujarat.gov.in पर ऑनलाइन चेक किया जा सकता है।

योजना का उद्देश्य दिसंबर 2020 के अंत तक 3500 से अधिक गांवों को डिजिटल सर्विसेस प्रदान करना है। राज्य के सभी नागरिकों को हाई इंटरनेट सर्विसेस प्रदान करने के लिए, राज्य भर में 100 MBPS ऑप्टिकल फाइबर नेटवर्क इंस्‍टॉल किया जाएगा, यह फास्‍ट इंटरनेट सर्विसेस को प्रदान करेगा।

योजना के लाभ और उद्देश्य के बारे में अधिक जानकारी प्राप्त करने के लिए लेख को अंत तक पढ़ें। ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन और गुजरात डिजिटल सेवा सेतु के लिए ऑनलाइन आवेदन करने की प्रक्रिया के बारे में सभी विवरण इस लेख में प्रदान किए जाएंगे। गुजरात डिजिटल सेवा सेतु प्रोग्राम का उद्देश्य राज्य के सभी नागरिकों को ई-सर्विसेस प्रदान करना है।

गुजरात डिजिटल सेवा सेतु योजना का कार्यान्वयन (Implementation of Gujarat Digital Seva Setu Yojana)

सेवा सेतु योजना की आधिकारिक अधिसूचना के माध्यम से ग्राम स्तर पर राजस्व अधिकारी द्वारा शपथ पत्र दिया जाएगा, शपथ पत्र के लिए लाभार्थियों को आस-पास के शहरों में स्थित नोटरी कार्यालयों में जाने की आवश्यकता नहीं है।

लाभार्थी फिजिकल सिग्नेचर की जगह इलेक्ट्रॉनिक सिग्नेचर का भी इस्तेमाल कर सकेंगे। लाभार्थियों को जो डयॉक्‍यूमेंट दिए जाएंगे, वे भौतिक रूप के बजाय डिजिटल लॉकर में दिए जाएंगे। ग्राहक अपने डयॉक्‍यूमेंट को अपने मोबाइल फोन से एक्सेस कर सकेंगे। यह योजना भारत नेट परियोजना के तहत शुरू की गई है। यह योजना ग्रामीण निवासियों को डयॉक्‍यूमेंट को संभालने की प्रक्रिया में बहुत स्पष्टता प्रदान करेगी। लगभग 83 प्रतिशत ऑप्टिकल फाइबर नेटवर्क बिछाया जा चुका है और ग्राम पंचायतों को गांधीनगर में डेटा सेंटर से जोड़ा जाएगा।

डिजिटल सेवा सेतु प्रोग्राम का अवलोकन

विवरणगुजरात डिजिटल सेवा सेतु
लॉन्चदिनांक 8 अक्टूबर 2020
प्रोग्रामडिजिटल गुजरात सेवा सेतु ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन
पोर्टलDigital Seva Setu Portal
के तहतगुजरात राज्य सरकार
लाभार्थीगुजरात का ग्रामीण निवास
उद्देश्यइलेक्ट्रॉनिक सेवाएं
लाभजन कल्याण सेवाओं की ऑनलाइन उपलब्धता
श्रेणीगुजरात सरकार योजना
आधिकारिक वेबसाइटhttps://digitalsevasetu.gujarat.gov.in/

डिजिटल गुजरात सेतु पोर्टल – Digital Gujarat Setu Portal

इस योजना के तहत, हाई इंटरनेट स्‍पीड प्रदान करने के लिए 100 MBPS ऑप्टिकल फाइबर नेटवर्क बिछाया जाएगा और यह राज्य के 3500 जिलों और गांवों को जोड़ेगा।

गुजरात में ग्रामीण क्षेत्रों के विकास के लिए राज्य सरकार द्वारा 55 कल्याणकारी योजनाएं शुरू की गई हैं। योजना का उद्देश्य गुजरात के ग्रामीण क्षेत्रों में डिजिटलीकरण का विकास और प्रचार करना है।

ग्रामीण क्षेत्रों को शहरी क्षेत्रों से जोड़ने और आगामी टेक्नोलॉजीज के साथ सहज होने की आवश्यकता है। ग्रामीण क्षेत्रों में इंटरनेट कनेक्शन की कमी राज्य के समग्र विकास के लिए एक बड़ा झटका है। यह योजना दो चरणों में लागू की जाएगी। पहले चरण में, राज्य सरकार राज्य भर के 2700 गांवों को ई-सर्विसेस प्रदान करेगी। पहले चरण में, केवल 20 प्रकार की डिजिटल सर्विसेस प्रदान की जाएंगी।

गुजरात डिजिटल सेवा सेतु प्रोग्राम के फीज (Fee For Gujarat Digital Seva Setu Program)

योजना के एप्लीकेशन फॉर्म को भरने और जमा करने के लिए कोई शुल्क नहीं है। लाभार्थियों को 20 रुपये का मामूली शुल्क देना होगा। प्रत्येक ई-सेवा के लिए इस शुल्क का भुगतान ई-ग्राम पंचायत कार्यालय को प्राप्त सेवा के लिए किया जाता है।

[यह भी पढ़े: भु नक्शा झारखण्ड डाउनलोड कैसे करें? जाने आसान चरणों में]

गुजरात डिजिटल सेवा सेतु उद्देश्य (Digital Gujarat Seva Setu Objective)

आज सब कुछ प्रौद्योगिकी द्वारा संचालित है, सरकार द्वारा दी जाने वाली सभी सेवाओं का लाभ फोन, पीसी पर इंटरनेट का उपयोग करके उठाया जा सकता है। गुजरात के ग्रामीण क्षेत्र तेज इंटरनेट कनेक्शन की कमी के कारण बुनियादी इंटरनेट सेवाओं से वंचित थे। इस योजना के माध्यम से गुजरात के निवासियों को जिला स्तर के कार्यालयों तक पहुंचने के लिए यात्रा नहीं करनी पड़ेगी, सब कुछ उनके फोन पर होगा।

गुजरात डिजिटल सेवा सेतु योजना का मुख्य उद्देश्य ग्रामीण क्षेत्रों के निवासियों के घरों तक सरकारी सेवाओं का लाभ पहुंचाना और गुजरात राज्य की डिजिटल कुंजी लेना है। राज्य सरकार द्वारा डिजिटल सेवा सेतु कार्यक्रम 2022 में 3500 ग्राम पंचायतों को ऑप्टिकल फाइबर नेटवर्क से जोड़ा जाएगा। डिजिटल सेवा सेतु प्रोग्राम 8 अक्टूबर 2020 को शुरू किया गया है। यह योजना सबसे पहले गुजरात के 2700 गांवों में शुरू की जाएगी।

  • इस योजना के तहत अधिकारियों का कहना है कि दिसंबर 2020 तक राज्य के करीब 8 हजार गांव इससे जुड़ जाएंगे.
  • यह योजना राज्य के ग्रामीण क्षेत्रों में एक अलग गौरव लेकर आएगी।

गुजरात राज्य के ग्रामीण क्षेत्रों के लोग अब अपने गांव के सेवा केंद्र पर जाकर ऑनलाइन आय प्रमाण पत्र, राशन कार्ड जैसी 22 सेवाओं का लाभ प्राप्त कर सकेंगे, और लोगों को केवल 20 रुपये का भुगतान करना होगा।

गुजरात डिजिटल सेवा सेतु योजना के लाभ (Benefits of Gujarat Digital Seva Setu Yojana)

गुजरात सरकार की गुजरात डिजिटल सेवा सेतु योजना का उद्देश्य भ्रष्टाचार या बिचौलियों की आवश्यकता को समाप्त करना और राज्य के लोगों को तेज और निर्बाध सेवाएं प्रदान करना है। इस योजना के तहत राज्य सरकार 20 सेवाओं के साथ पहले चरण की शुरुआत करेगी और धीरे-धीरे गांवों में 50 सेवाएं प्रदान करेगी। इस प्रोग्राम के तहत गुजरात राज्य की सभी 14,000 ग्राम पंचायतों को शामिल किया जाएगा। डिजिटल सर्विस ब्रिज फेज 1 डिजिटल सेवा का उपयोग करेगा और प्रशासन में भ्रष्टाचार को दूर करेगा। गुजरात के बचे हुए गांवों को हाई स्पीड इंटरनेट से जोड़ने का काम राज्य सरकार 2021 तक पूरा कर लेगी।

  • केंद्र की भारत नेट परियोजना के तहत ग्राम पंचायतों को ऑप्टिकल फाइबर नेटवर्क से जोड़ने का काम शुरू कर दिया गया है.
  • गुजरात सरकार ने आप्टिकल फाइबर नेटवर्क का लगभग 83 प्रतिशत बिछा दिया है।
  • डिजिटल सेवा सेतु कार्यक्रम के माध्यम से ग्राम पंचायतों को गांधीनगर स्थित स्टेट डाटा सेंटर से जोड़ा जाएगा।

डिजिटल गुजरात सेतु लॉगिन (Digital Gujarat Setu Login)

सरकार द्वारा दी जाने वाली ई-सर्विसेस निवासियों के दरवाजे पर होंगी। गुजरात डिजिटल सेवा सेतु प्रोग्राम भारत नेट परियोजना के तहत रेगुलेटेड है। योजना सभी को जोड़ेगी और ई-पंचायतों को बढ़ावा दिया जाएगा।

गुजरात डिजिटल सेवा सेतु प्रोग्राम के तहत दी जाने वाली सर्विसेस

Services Offered Under Gujarat Digital Seva Setu Program

गुजरात डिजिटल सेवा सेतु पोर्टल पर योजना के तहत कुल 55 ई-सर्विसेस प्रदान की जाती हैं। इन सभी सेवाओं को विभिन्न विभागों द्वारा विनियमित किया जाता है। कुल 10 विभाग इन सेवाओं को देखते हैं। इनमें से कुछ सर्विसेस इस प्रकार हैं-

  • कृषि एवं सहकारिता विभाग
    • कृषि सहाय पैकेज योजना
  • ऊर्जा और पेट्रो रसायन विभाग
    • DGVCL इलेक्ट्रिसिटी बिल पेमेंट
    • MGVCL इलेक्ट्रिसिटी बिल पेमेंट
    • PGVCL इलेक्ट्रिसिटी बिल पेमेंट
  • खाद्य, नागरिक आपूर्ति और उपभोक्ता अफेयर्स
    • राशन कार्ड में बदलाव
    • राशन कार्ड सदस्य अभिभावक के लिए आवेदन
    • राशन कार्ड का शपथ पत्र
    • डुप्लीकेट राशन कार्ड के लिए आवेदन
    • अलग राशन कार्ड के लिए आवेदन
    • स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग
    • गृह विभाग
    • पंचायत, ग्रामीण आवास एवं ग्रामीण विकास विभाग।
    • बंदरगाह और परिवहन विभाग।
    • ऑनलाइन टिकट बुकिंग
    • ऑनलाइन टिकट रद्द
    • नया ई-कंप्यूटर पास
  • सीएससी डिजिटल गुजरात सेवासेतु ऐप डाउनलोड
    • ई-कंप्यूटर पास का नवीनीकरण
  • राजस्व विभाग
    • ई-चालान (स्टांप शुल्क)
    • VF6 एंट्री डिटेल्‍स (ग्राम पंचायत)
    • VF7 सर्वे नंबर डिटेल्‍स (ग्राम पंचायत)
    • VF8A खाता डिटेल्‍स (ग्राम पंचायत)
  • सामाजिक न्याय और अधिकारिता विभाग
    • धार्मिक अल्पसंख्यक प्रमाण पत्र (ग्राम पंचायत)
    • भाषाई अल्पसंख्यक प्रमाणपत्र
    • अनारक्षित जाति प्रमाण पत्र (आय के बिना ग्राम पंचायत)
    • घुमंतू-विमुक्त जाति प्रमाण पत्र (ग्राम पंचायत)
    • जाति का शपथ पत्र
    • IGNOPS
    • ADOAPS
    • NFBS
  • महिला एवं बाल विभाग
    • विधवा प्रमाणपत्र (पंचायत) (ग्रामीण)
    • विधवा सहायता संबंधी शपथ पत्र
    • इंदिरा गांधी राष्ट्रीय विधवा पेंशन योजना (ग्राम पंचायत)

ये दस विभाग ई-सेवाओं का नियमन करेंगे। इन विभाग द्वारा प्रदान की जाने वाली विभिन्न सर्विसेस हैं जिनका उपयोग योजना के लाभार्थियों द्वारा किया जा सकता है।

[यह भी पढ़े: मुख्यमंत्री 1 बीघा योजना: लाभ, उद्देश्य और अप्‍लाई कैसे करें?]

डिजिटल गुजरात सेवासेतु पोर्टल (Digital Gujarat Sevasetu Portal)

योजना का क्रियान्वयन

  • 83% ऑप्टिकल फाइबर नेटवर्क तैयार किया गया है और पंचायतें अब गांधीनगर में डेटा केंद्रों से डिजिटल रूप से जुड़ी हुई हैं।
  • राजस्व अधिकारी द्वारा योजना के आवेदकों को एफिडेविट जारी किया जाएगा।
  • एप्लीकेशन फॉर्म में भौतिक हस्ताक्षरों को डिजिटल हस्ताक्षरों से बदल दिया गया है।
  • डिजी लॉकर में महत्वपूर्ण प्रमाणपत्रों और दस्तावेजों को सुरक्षित रूप से लॉक किया जा सकता है। डिजिटल लॉकर राज्य सरकार द्वारा अनुमोदित होंगे और निवासियों द्वारा उपयोग के लिए सुरक्षित होंगे।
  • नागरिकों द्वारा नोटरी कार्यालय जाने की आवश्यकता को समाप्त कर दिया गया है। योजना के लाभार्थी अपने डॉक्यूमेंट्स को फोन के माध्यम से ऑनलाइन एक्सेस कर सकते हैं। नोटरी कार्यालयों में अब एप्लीकेशन फॉर्म, रजिस्ट्रेशन फॉर्म, प्रमाण पत्र या एफिडेविट जमा करने की कोई आवश्यकता नहीं है।
  • इस योजना से पारदर्शिता को बढ़ावा मिलेगा।

डिजिटल गुजरात सेतु रजिस्ट्रेशन (Digital Gujarat Setu Registration)

दिसंबर 2020 के अंत तक इस योजना में 8000 और गांव जोड़े गए। वर्तमान में, राज्य भर के 3500 गांवों में लगभग 55 ई-सर्विसेस प्रदान की जाती हैं। गुजरात के शेष गांवों में 2022 के अंत तक पहुंच जाएगा। योजना के दूसरे चरण में, राज्य सरकार नागरिकों के लाभ के लिए गांवों को मिनी सचिवालय में बदल देगी।

डिजिटल सेवा सेतु योजना 2022 के लिए ऑनलाइन अप्‍लाई कैसे करें

How to Apply for Digital Seva Setu Scheme 2022 online

गुजरात के नागरिकों को डिजिटल सेवा सेतु योजना चरण 1 के लिए ऑनलाइन अप्‍लाई करना होगा।

योजना के लिए ऑनलाइन अप्‍लाई करने की प्रक्रिया के तहत समझाया गया है-

  • सबसे पहले, योजना के लाभार्थियों को डिजिटल गुजरात सेवासेतु पोर्टल पर गुजरात सरकार की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • होम पेज पर Register ऑप्‍शन पर क्लिक करें।
  • स्क्रीन पर एक डायलॉग बॉक्स दिखाई देगा, सभी आवश्यक विवरण भरें- मान्य मोबाइल नंबर, ईमेल पता और पासवर्ड। कैप्चा कोड डालने के बाद Save बटन पर क्लिक करें।
  • अब, OTP जनरेट होगा और रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर भेजा जाएगा। OTP दर्ज करें और Confirm पर क्लिक करें।
  • अब, आवेदक की प्रोफाइल ओपन हो जाएगी।

गुजरात डिजिटल सेवा पोर्टल में लॉग इन करने के चरण

खाते में सफलतापूर्वक लॉगिन करने के बाद, आवेदक को डिजिटल लॉकर की सेवाओं का एक्‍सेस प्राप्त हो सकता है। डिजिटल लॉकर में लाभार्थी अपने महत्वपूर्ण डयॉक्‍यूमेंट और प्रमाण पत्र जमा कर सकते हैं। किसी भी डयॉक्‍यूमेंट को डिजिटल लॉकर पर डाउनलोड और वेरिफाई किया जा सकता है। अकाउंट में सफलतापूर्वक लॉग इन करने के बाद, निम्नलिखित चरणों का ध्यानपूर्वक पालन करें-

  • सबसे पहले गुजरात डिजिटल देवा सेतु की आधिकारिक वेबसाइट पर जाएं। होम पेज के ऊपर दाईं ओर Login पर क्लिक करें।
  • अब डिजिटल गुजरात पोर्टल ओपन होगा। ईमेल आईडी या रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर का उपयोग करके E-citizen portal में लॉग इन करें। पासवर्ड और कैप्चा कोड डालने के बाद Login पर क्लिक करें।
  • स्क्रीन पर एक नया पेज ओपन होगा। उम्मीदवार उस सेवा का चयन कर सकते हैं जिसका वे लाभ उठाना चाहते हैं।

डिजिटल सेवा सेतु गुजरात पर अपना प्रोफाइल अपडेट करने के लिए –

  • योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाएं।
  • होमपेज पर, My profile पर क्लिक करें।
  • स्क्रीन पर Citizen Portal नामक एक डायलॉग बॉक्स दिखाई देगा।
  • प्रोफाइल में अपने अनुसार मनचाहा बदलाव करें।
  • परिवर्तन करने के बाद, Update Profile पर क्लिक करें।

डिजिटल गुजरात सेवासेतु हेल्पलाइन नंबर

Digital Gujarat Sevasetu Helpline number

जिन नागरिकों के पास गुजरात डिजिटल सेवा सेतु योजना के बारे में प्रश्न हैं, वे संबंधित विभाग से संपर्क कर सकते हैं। संबंधित अधिकारी नागरिकों को उनकी क्वेरी को स्पष्ट करने में मदद करेंगे। हेल्पलाइन नंबर 1800233550 है।

आधिकारिक पोर्टल – यहां क्लिक करें

अन्य योजनाओं की जानकारी जो आपको पढ़नी चाहिए:

बीजू पक्का घर योजना: वित्तीय सहायता, विशेषताएं और लाभ

PM Ujjwala Yojana – पीएम उज्ज्वला योजना

इस लेख को अंत तक पढ़ने के लिए अपना बहुमूल्य समय देने के लिए आपका बहुत-बहुत धन्यवाद।

आपका दिन शुभ हो!

Leave a Comment